MJ Group Of Education Saturday,Dec 10,2022
     
MJGE

Hemchand Yadav Vishwavidyalaya Kul Geet



EXAM QUESTION PAPER(2021-22)

MODEL EXAM TIME TABEL

 एम.जे.कॉलेज एवं गठित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के तत्वावधान में दिनांक 26/2 /2013 को सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, न्याय सदन द्वारा विधिक सेवा क्लीनिक की स्थापना एम.जे. कॉलेज में की गई है और प्रति शनिवार को दोपहर      1:00 बजे से 2:00 बजे तक प्राप्त मामले के निपटारे हेतु समय का निर्धारण किया गया है।

प्रस्तावना:- किसी भी नागरिक की आर्थिक या अन्य अयोग्यताओ के कारण  उसे न्याय प्राप्त करने से वंचित नहीं किया जा सकता। समाज के प्रत्येक वर्ग को मुफ्त एवं उचित कानूनी सेवाएं प्रदान करने के लिए विधिक सेवाएं प्राधिकरण अधिनियम 1987 बनाया गया है, जिसके अंतर्गत राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण का गठन किया गया है ।न्याय केवल न्यायालयों में लंबित वादों तक सीमित नहीं है।कानूनी जागरूकता व साक्षरता के लिए प्रयास जरूरी है। विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा राज्य के विभिन्न गांवों में विधिक सहायता क्लीनिक की स्थापना की गई हैं , जिनमें विधिक  सेवा, स्वयं सेवक व पैनल के वकीलो द्वारा दी जाती  हैं। इसके अलावा विधिक सेवा  प्राधिकरण द्वारा कानूनी जागरूकता व साक्षरता अभियान चलाया गया है। आम लोगों तक कानूनी ज्ञान पहुंचाने के लिए प्राधिकरण द्वारा सरल भाषा में विभिन्न विषयों पर पुस्तकें ‌ छपवाई गई हैं, ताकि कोई भी व्यक्ति कानूनी ज्ञान से वंचित न रहे तथा जन सामान्य तक कानूनी लाभ आसानी से पहुंच सके।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण क्या है?

 जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राज्य सरकार, उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायमूर्ति के परामर्श से इस अधिनियम के अधीन जिला प्राधिकरण को प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग और समुनुदिष्ट कृत्यों का पालन करने के लिए,राज्य के  प्रत्येक जिले के लिए एक निकाय का गठन करेगी, जिसे जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कहा जाएगा। लीगल एड क्लीनिक का अर्थ है जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा स्थानीय ग्रामीण जनों को निशुल्क एवं मूलभूत विधिक सेवा उपलब्ध करने हेतु प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की तर्ज पर स्थापित प्राथमिक विधि सेवा केंद्र से है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण स्थानीय व्यक्तियों के विधिक अधिकारों हेतु हैं।

राज्य के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निम्नलिखित सदस्य होते हैं।

  1. अध्यक्ष के रूप में जिला तथा सत्र न्यायाधीश
  2. जिला मजिस्ट्रेट
  3. पुलिस अधीक्षक
  4. जिला न्यायावादी
  5. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सचिव सदस्य होगा

( क ) एक सामाजिक कार्यकर्ता

 ( ख ) महिलाओं का एक प्रतिनिधि।

एम. जे. कॉलेज जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के उद्देश्य

 जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग, द्वारा एम.जे .कॉलेज में लीगल एड क्लीनिक का स्थापना का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों के मध्य विधिक जागरूकता का विकास करना तथा विद्यार्थियों को सामुदायिक सेवा हेतु प्रेरित करना है। लीगल एड क्लीनिक के माध्यम से विद्यार्थीयो एवं जरूरतमंदों को विधिक सहायता  कर, न्यायदान की प्रक्रिया में सहभागिता सुनिश्चित करना हैं। समाज में विभिन्न तबके के लोगों को न्यायालय और अन्य कानूनी प्रक्रिया से समुचित विधिक सहायता प्रदान करना ही एम. जे. कॉलेज विधिक सेवा क्लीनिक का मुख्य उद्देश्य है।

एम. जे. कॉलेज विधिक सेवा क्लीनिक के प्रभारी एवं सदस्यों की सूची

  • डॉ. अनिल चौबे  (प्राचार्य)
  • डॉ. जे पी  कनौजे ( प्रभारी)
  • श्रीमती उर्मिला यादव  (सदस्य)
  • श्रीमती अर्चना त्रिपाठी  (सदस्य)
  • श्री दीपक रंजन दास ( सदस्य)
  • श्री विकास सेजपाल ( सदस्य)

 

एमजे कालेज द्वारा आयोजित वेबिनार में छलका एलजीबीटी समुदाय का दर्द

एमजे कालेज के विधिक साक्षता शिविर में दी कानूनी प्रावधानों की जानकारी

एमजे कालेज के एनएसएस शिविर में पहुंचे जिला विधिक सेवा प्राधिकारण के न्यायाधीश राहुल शर्मा

एमजे की एनएसएस इकाई ने बोड़ेगांव में किया श्रमदान, दिए कई संदेश

एमजे कालेज में ट्रांसजेंडर समानता पर कार्यशाला

एमजे कालेज में साइबर क्राइम पर एक दिवसीय वेबीनार

एमजे कालेज में आईसीसी दिवस पर वेबिनार का आयोजन

भारत में हर दूसरा बच्चा अधिकारों से वंचित – डॉ आभा